पीएम मोदी का इजरायल-हमास युद्ध पर बयान: ‘मुझे मुस्लिमों पर घेरते हैं लेकिन रमजान में मैंने…’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का स्पष्ट संदेश

लोकसभा चुनाव के दौरान विपक्षी नेता लगातार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर मुस्लिम समुदाय के खिलाफ बयान देने का आरोप लगाते रहे हैं। कुछ दिनों पहले पीएम मोदी के संपत्ति के बंटवारे और ज्यादा बच्चों वाले बयान को भी विपक्ष ने मुस्लिम समुदाय से जोड़कर उन पर निशाना साधा था। लेकिन प्रधानमंत्री मोदी ने साफ तौर पर कहा है कि वो हिंदू-मुस्लिम तुष्टीकरण की राजनीति नहीं करते हैं।

इजरायल-हमास युद्ध का जिक्र

हाल ही में एक निजी टीवी चैनल को दिए गए इंटरव्यू में पीएम मोदी ने इजरायल-हमास युद्ध का जिक्र किया। उन्होंने बताया कि जब रमजान के महीने में गाजा में बमबारी हो रही थी, तब उन्होंने गाजा में बमबारी रुकवाने की कोशिश की थी। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, “मुझे मुसलमानों को लेकर घेरा जाता है, लेकिन जब रमजान के महीने में गाजा में बमबारी हो रही थी तो मैंने एक विशेष दल इजरायल भेजा था।”

विशेष दल भेजने का निर्णय

प्रधानमंत्री मोदी ने बताया कि उन्होंने पब्लिसिटी में विश्वास नहीं रखा और इसलिए इस कदम की जानकारी सार्वजनिक नहीं की। उन्होंने कहा, “मैंने अपने विशेष दूत को इजरायल भेजा। मैंने उनसे कहा था कि आप इजरायल के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री से मिलिए और उन्हें समझाएं कि कम से कम रमजान में गाजा में बमबारी न करें। मेरा फलस्तीन के साथ उतना ही नाता है जितना इजरायल के साथ है।”

हिंदू-मुस्लिम राजनीति पर रुख

प्रधानमंत्री मोदी ने अपने हिंदू-मुस्लिम तुष्टीकरण की राजनीति पर स्पष्ट किया, “जिस दिन मैं हिंदू-मुस्लिम करने लगूंगा उस दिन मैं सार्वजनिक जीवन में जीने योग्य नहीं रहूंगा। मैंने संकल्प लिया है कि मैं कभी हिंदू-मुस्लिम राजनीति नहीं करूंगा।”

पीएम मोदी का इजरायल-हमास युद्ध पर बयान

मुद्दाविवरण
प्रधानमंत्री का बयानहिंदू-मुस्लिम तुष्टीकरण की राजनीति नहीं करते
विपक्ष के आरोपपीएम मोदी पर मुस्लिम समुदाय के खिलाफ बयान देने का आरोप
इंटरव्यू का संदर्भएक निजी टीवी चैनल को दिए गए इंटरव्यू में पीएम मोदी ने इजरायल-हमास युद्ध का जिक्र किया
गाजा में बमबारी रोकने का प्रयासपीएम मोदी ने रमजान के महीने में गाजा में बमबारी रोकने के लिए एक विशेष दल इजरायल भेजा था
विशेष दल भेजने का उद्देश्यइजरायल के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री से मिलकर रमजान में गाजा में बमबारी रोकने की अपील करना
फलस्तीन और गाजा के साथ संबंधपीएम मोदी ने कहा कि उनका फलस्तीन के साथ उतना ही नाता है जितना इजरायल के साथ
पब्लिसिटी पर रुखपीएम मोदी ने पब्लिसिटी में विश्वास नहीं रखा
हिंदू-मुस्लिम राजनीति पर बयान“जिस दिन मैं हिंदू-मुस्लिम करने लगूंगा उस दिन मैं सार्वजनिक जीवन में जीने योग्य नहीं रहूंगा”
संकल्पपीएम मोदी ने संकल्प लिया है कि वे कभी हिंदू-मुस्लिम राजनीति नहीं करेंगे

निष्कर्ष

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने बयान में स्पष्ट किया है कि वे हिंदू-मुस्लिम तुष्टीकरण की राजनीति नहीं करते और उनके लिए सभी धर्मों के लोग समान हैं। इजरायल-हमास युद्ध के दौरान रमजान के महीने में गाजा में बमबारी रुकवाने की कोशिश उनके इस रुख को दर्शाती है। विपक्ष के आरोपों के बावजूद, पीएम मोदी का कहना है कि उन्होंने हमेशा मानवता और समानता को प्राथमिकता दी है।

यह भी पढ़ें:

लोकसभा चुनाव 2024: केजरीवाल का आत्मविश्वास, ‘चार जून को जेल से देखूंगा हमारी जीत’

कांग्रेस: राहुल गांधी ने रायबरेली जीतने के लिए बनाया मेगा प्लान

Loksabha Chunav 2024: जौनपुर में समाजवादी पार्टी को दोहरा झटका, भाजपा को बड़ी राहत, बदल सकते हैं राजनीतिक समीकरण

प्रियंका गांधी: ‘स्वाति मालीवाल के साथ खड़ी हूं, उम्मीद है केजरीवाल करेंगे इंसाफ’

लोकसभा चुनाव 2024: अमित शाह का अंदाज़ – उत्तर प्रदेश में बीजेपी की सीटों का मुद्दा

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे जरूर शेयर करें और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़े रहें आपकी अपनी वेबसाइट bavaalnews.com के साथ। इस आर्टिकल के बारे में अपनी राय आप हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

Leave a Comment