लोकसभा चुनाव 2024: यूपी-बिहार समेत सात राज्यों की चुनावी भविष्यवाणियों ने चौंकाया, जानिए जीत-हार के दावे

लोकसभा चुनाव 2024 अपने अंतिम दौर में पहुंच चुका है और देशभर में चुनावी सरगर्मियां तेज हो गई हैं। इस बार चुनाव के नतीजे किस ओर जा सकते हैं, इस पर राजनीतिक विश्लेषकों और विशेषज्ञों की नजर है। CSDS-लोकनीति के को-डायरेक्टर प्रोफेसर संजय कुमार ने ‘न्यूज तक’ के साथ बातचीत में उत्तर प्रदेश, बिहार, राजस्थान, हरियाणा, दिल्ली, महाराष्ट्र और कर्नाटक के संभावित नतीजों पर अपने अनुमान प्रस्तुत किए हैं। आइए जानते हैं इन सात राज्यों की सीटों पर चुनावी भविष्यवाणियों के बारे में।

लोकसभा चुनाव 2024 उत्तर प्रदेश: बीजेपी की स्थिति स्थिर

संजय कुमार के अनुसार, उत्तर प्रदेश में सीटों में बहुत ज्यादा बदलाव की उम्मीद नहीं है। उन्होंने कहा कि यदि बीजेपी सीटें नहीं बढ़ा पाई और मायावती को भी सीटें नहीं मिली, तो इंडिया गठबंधन की सीटों में बढ़ोतरी हो सकती है। हालांकि, संजय कुमार ने यह भी कहा कि बीजेपी की स्थिति वर्तमान में स्थिर रह सकती है और ज्यादा बदलाव देखने को नहीं मिलेगा।

बिहार: एनडीए को नुकसान की संभावना

बिहार को लेकर संजय कुमार ने कहा कि पिछली बार एनडीए ने 40 में से 39 सीटें जीती थीं, लेकिन इस बार उनके प्रदर्शन में गिरावट आ सकती है। उन्होंने बताया कि बीजेपी भले ही कुछ हद तक अपनी सीटें बनाए रखे, लेकिन उनके सहयोगियों के लिए 2019 को दोहराना काफी मुश्किल है। बिहार में एनडीए को नुकसान की संभावना जताई जा रही है।

राजस्थान: क्लीन स्वीप असंभव

राजस्थान में पिछले दो चुनावों में बीजेपी ने सभी 25 सीटों पर जीत हासिल की थी। लेकिन इस बार संजय कुमार ने कहा कि कांग्रेस के हालिया विधानसभा चुनाव में प्रदर्शन को देखते हुए बीजेपी के लिए राजस्थान में क्लीन स्वीप करना असंभव लग रहा है। कितनी सीटें हारेंगी, इसका पता 4 जून को ही चल सकेगा।

हरियाणा: मामूली नुकसान

हरियाणा में चर्चा है कि बीजेपी सभी सीटें हार सकती है, लेकिन संजय कुमार इसे इतना बड़ा परिवर्तन नहीं मानते। पिछली बार की सभी दस सीटों पर जीत हासिल करने वाली बीजेपी इस बार 2-4 सीटें हार सकती है। हालांकि, उनकी स्थिति यहां भी मजबूत मानी जा रही है।

दिल्ली: बीजेपी की मजबूत स्थिति

दिल्ली में 2019 के चुनावी आंकड़ों के आधार पर संजय कुमार ने कहा कि बीजेपी की स्थिति मजबूत है। कांग्रेस और ‘आप’ के वोट मिलाकर भी बीजेपी के वोट ज्यादा हैं। गठबंधन के बावजूद भी शत-प्रतिशत वोट ट्रांसफर नहीं होता है। उन्होंने कहा कि बीजेपी इस बार भी 1 या 2 सीटों से ज्यादा हारती हुई नहीं दिख रही है।

महाराष्ट्र: उलझन भरी स्थिति

महाराष्ट्र में स्थिति काफी उलझन भरी है। संजय कुमार ने कहा कि यहां दो शिवसेना और दो एनसीपी होने के कारण वोटर्स कन्फ्यूज हैं। सहानभूति फैक्टर से शरद पवार और उद्धव ठाकरे को फायदा मिल सकता है, लेकिन दूसरे धड़े के पास पार्टी का पुराना सिंबल है, जो उनके लिए फायदेमंद हो सकता है। महाराष्ट्र में कांग्रेस के सहयोगी महाराष्ट्र विकास अघाड़ी का पलड़ा भारी नजर आ रहा है। MVA 25-26 सीटें जीत सकती है और NDA 19-20 सीटें जीत सकती है।

कर्नाटक: बीजेपी को नुकसान

कर्नाटक में पिछली बार बीजेपी ने 28 में से 25 सीटें जीती थीं, लेकिन इस बार उन्हें नुकसान होना तय है। इस बार बीजेपी यहां 25 सीटों पर ही चुनाव लड़ रही है और तीन सीटों पर उनके सहयोगी जेडीएस चुनाव लड़ रहे हैं। ऐसे में बीजेपी को यहां 6 से लेकर 10 सीटों का नुकसान हो सकता है। संजय कुमार के मुताबिक, वोटर्स अब काफी जागरूक हैं और उन्हें पता है कि उनका वोट कहां काम आ रहा है।

निष्कर्ष

लोकसभा चुनाव 2024 के नतीजे आने में कुछ ही दिन बचे हैं। इन सात राज्यों की चुनावी भविष्यवाणियों ने जहां एक ओर बीजेपी की स्थिति को स्पष्ट किया है, वहीं दूसरी ओर इंडिया गठबंधन की संभावनाओं को भी उजागर किया है। 4 जून को नतीजे आने के बाद ही यह साफ हो सकेगा कि किसकी सरकार बनेगी और किसे सत्ता में आने का मौका मिलेगा। तब तक सभी राजनीतिक दल और उनके समर्थक नतीजों का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें:

हरियाणा में बोगस वोटिंग पर मनोहर लाल खट्टर ने उठाए सवाल, 400 सीटें जीतने का दावा

प्रधानमंत्री मोदी की रैलियों से गूंजेगा बंगाल और ओडिशा, राहुल गांधी का पंजाब दौरा

मनोज तिवारी का जवाब: क्षेत्रवाद के मुद्दे पर कांग्रेस और सुखपाल खैरा पर निशाना

प्रधानमंत्री मोदी का दावा: TMC अस्तित्व की लड़ाई लड़ रही, पश्चिम बंगाल में भाजपा को मिलेगी सर्वाधिक सफलता

केजरीवाल के समर्पण से पहले 1 जून को ‘इंडिया’ गठबंधन की बड़ी बैठक: सबकी रहेंगी निगाहें

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे जरूर शेयर करें और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़े रहें आपकी अपनी वेबसाइट bavaalnews.com के साथ। इस आर्टिकल के बारे में अपनी राय आप हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

Leave a Comment