अखिलेश यादव ने अपने कार्यकर्ताओं से कहा जब तक जीत के प्रमाण नहीं मिल जाते तब तक आराम नहीं

अखिलेश यादव का बड़ा संदेश

लोकसभा चुनाव 2024 के छठे चरण के मतदान के दिन समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पार्टी कार्यकर्ताओं को एक महत्वपूर्ण संदेश दिया है। उन्होंने कहा, “जब तक जीत का प्रमाण पत्र न मिल जाए तब तक आराम नहीं करना है।

स्ट्रांग रूम में गड़बड़ी की आशंका

अखिलेश यादव ने हमीरपुर में स्ट्रांग रूम के दो वीडियो शेयर किए हैं। इन वीडियोज में स्ट्रांग रूम बार-बार अंधेरे में डूबा दिख रहा है और सीसीटीवी कैमरे काम करते नहीं दिख रहे हैं। अखिलेश यादव ने आरोप लगाया कि स्ट्रांग रूम की बिजली बार-बार काटी जा रही है। उन्होंने चुनाव आयोग और स्थानीय प्रशासन से इस पर तत्काल संज्ञान लेने की मांग की।

कार्यकर्ताओं को सतर्क रहने की अपील

अखिलेश यादव ने अपने कार्यकर्ताओं को सतर्क रहने का संदेश देते हुए कहा, “सभी सपा प्रत्याशियों और जुझारू कार्यकर्ताओं से यही अपील है कि इसी तरह पूरे प्रदेश में, ईवीएम के स्ट्रांग रूम पर निगाह रखें और गड़बड़ी की किसी भी आशंका की सूचना हमें दें।” उन्होंने हमीरपुर के सपा कार्यकर्ताओं की सजगता की प्रशंसा की और कहा कि उनकी सतर्कता ही जीत का आधार बनेगी।

‘जब तक जीत का प्रमाण नहीं, तब तक विश्राम नहीं’

सपा अध्यक्ष ने जोर देकर कहा, “याद रखिए कि जब तक हाथ में जीत का प्रमाण नहीं, तब तक विश्राम नहीं।” उन्होंने कार्यकर्ताओं को चुनावी गड़बड़ी से बचने और हर स्थिति में सतर्क रहने की हिदायत दी।

उत्तर प्रदेश में छठे चरण की वोटिंग

आज उत्तर प्रदेश में छठे चरण के लिए 14 सीटों पर मतदान हो रहा है। ये सीटें हैं: सुल्तानपुर, प्रतापगढ़, फूलपुर, इलाहाबाद, अंबेडकरनगर, श्रावस्ती, डोमरियागंज, बस्ती, संतकबीरनगर, लालगंज, आज़मगढ़, जौनपुर, मछलीशहर और भदोही। पिछली बार इन सीटों पर बीजेपी का प्रदर्शन कुछ खास अच्छा नहीं रहा था। इन 14 सीटों में से बीजेपी को 9 सीटों पर जीत मिली थी, जबकि चार सीटों पर बसपा और एक आज़मगढ़ सीट पर सपा को जीत मिली थी।

निष्कर्ष

लोकसभा चुनाव 2024 के छठे चरण के मतदान के बीच अखिलेश यादव का यह संदेश कार्यकर्ताओं में जोश और सतर्कता बनाए रखने का काम करेगा। चुनावी प्रक्रिया में गड़बड़ी की आशंका को ध्यान में रखते हुए सपा अध्यक्ष ने अपने कार्यकर्ताओं को जो निर्देश दिए हैं, वे पार्टी की जीत सुनिश्चित करने के लिए महत्वपूर्ण साबित हो सकते हैं। अब देखना यह होगा कि सपा कार्यकर्ता इस चुनौती को कैसे संभालते हैं और पार्टी के पक्ष में नतीजे कैसे लाते हैं।

यह भी पढ़ें:

लोकसभा चुनाव 2024: मतदान करने पहुंचे गांधी परिवार, मां सोनिया के साथ सेल्फी लेते नजर आए राहुल

लोकसभा चुनाव छठे चरण की 15 हाई-प्रोफाइल सीटें: तीन केंद्रीय मंत्री और तीन पूर्व मुख्यमंत्री मैदान में

लोकसभा चुनाव 2024: योगेंद्र यादव की नई भविष्यवाणी से बढ़ेगी भाजपा की चिंता

अमित शाह का बिहार दौरा: यादव समाज को बड़ा संदेश और आरक्षण पर बड़ा एलान

राजा भैया ने लोकसभा चुनाव में क्यों नहीं दिया बीजेपी का साथ? धनंजय सिंह ने इशारों में किया ये दावा

अगर आपको यह लेख अच्छा लगा हो तो इसे जरूर शेयर करें और इसी तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़े रहें आपकी अपनी वेबसाइट bavaalnews.com के साथ। इस आर्टिकल के बारे में अपनी राय आप हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं।

Leave a Comment